करनाल – आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत 44 अस्पताल सूचीबद्ध

0
66

करनाल -प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा झारखण्ड राज्य के जिला रांची से 23 सितम्बर 2018 को आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की शुरुआत की गयी थी और हरियाणा प्रदेश में इस योजना का शुभारम्भ राजयपाल सत्यदेव नारायण आर्य, मुख्यमंत्री मनोहर लाल व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज द्वारा 23 सितम्बर 2018 को जिला करनाल से किया गया था जिसके तहत लाभार्थी परिवार सालाना 5 लाख रूपए तक का मुफ्त ईलाज किसी भी सूचीबद्ध सरकारी व निजी अस्पताल में करवा सकते है, जिसके लिए उनको कोई भी पैसा नहीं देना होगा।
जिला करनाल में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत कुल 44 अस्पताल सूचीबद्ध किये जा चुके हैं जिसमें 9 सरकारी अस्पताल व 35 निजी अस्पताल शामिल है। जिला करनाल में अब तक आयुष्मान भारत योजना के तहत 1 लाख 82 हजार से ज्यादा लाभार्थीओ के आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनाये जा चुके है। जिला करनाल मे आयुष्मान भारत जन आरोग्य योजना के तहत 35 निजी अस्पतालों मे रामा सुपरस्पेशलटी अस्पताल, संजीव बंसल सिग्नस अस्पताल, बालाजी अस्पताल, मिमानी अस्पताल, विर्क अस्पताल, डॉ के.सी. सचदेवा अस्पताल, मिगलानी नर्सिंग होम, सुशील गर्ग अस्पताल, सरस्वती नेत्रालय, पार्क अस्पताल, भटनागर आई केयर सेंटर, सूर्या अस्पताल, श्रीहरी अस्पताल, हरियाणा अस्पताल, ठाकु रआई व् मैटरनिटी अस्पताल, मूलचंद किडनी व् यूरोलॉजी अस्पताल, अर्पणा अस्पताल, सेठ अस्पताल, हरियाणा नर्सिंग होम, परवीन अस्पताल करनाल, अरोड़ा आई व् लेसिकलेजर सेंटर, आर. पी. वेलटार अस्पताल, पारस नर्सिंग होम, करनाल नर्सिंग होम, पी. आर. पी. अस्पताल किडनी सेंटर व् ब्लड बैंक, दुआ मल्टी स्पेशलटी अस्पताल, सत्यम अस्पताल, रोहित कठपालिया यूरोलॉजी सेंटर, अमर अस्पताल असंध, नीरा नर्सिंग होम, जगदम्बा बेबी केयर सेंटर, गुरु नानक अस्पताल, भाटिया ऑर्थोपेडिक सेंटर करनाल, डॉ ऋषि आई इंस्टिट्यूट, श्रीराम चाँद मेमोरियल अस्पताल शामिल है जिनमें आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत मुफ्त ईलाज की सुविधा उपलब्ध है व मुफ्त मे आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड भी बनाये जातेहै।
स्वास्थ्य विभाग करनाल के द्वारा जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है जिसमे क्षेत्र की आशा वर्कर के द्वारा जिन लाभार्थीओं का आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभार्थी सूची में नाम तो है, परन्तु उन्होंने अभी तक अपना गोल्डन कार्ड नहीं बनवाया है, उन सभी लाभार्थी पात्रों के कार्ड बनवाने में सहयता की जायेगी। स्वास्थय विभाग करनाल के द्वारा लाभार्थीओ से भी अनुरोध है कि वे अपने क्षेत्र की आशा वर्कर से संपर्क करके अपने कार्ड बनवाये। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत सभी सूचीबद्ध सरकारी, निजी व कॉमन सर्विस सेंटर्स/अटल सेवा केन्द्रों पर आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड भी बनाये जा रहे है।
आप लाभार्थी है या नहीं यह जानने के लिए टोल फ्री नंबर 14555/1800 111 565 पर कॉल करें या अपना राशन कार्ड, आधार कार्ड, आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री पत्र ले जाकर किसी भी नजदीकी सूचीबद्ध सरकारी, निजी व् कॉमन सर्विस सेंटर्स/अटल सेवा केन्द्र पर जाकर अपना व् अपने परिवार का नाम आयुष्मान भारत योजना सूची में चेक करवा सकते है और नाम मिलने पर अपना आयुष्मान भारत कार्ड बनवा सकते है। सूचीबद्ध सरकारी व् निजी अस्पतालों में आयुष्मान भारत कार्ड निशुल्क बनाये जा रहे है व् कॉमन सर्विस सेंटर्स/अटल सेवा केन्द्रो पर मात्र 30रुपये में आयुष्मान भारत कार्ड बनवाया जा सकता है।
स्वास्थ्य विभाग करनाल द्वारा जिले के सभी लाभार्थी पात्रों से निवेदन किया जाता है कि वे किसी व्यक्ति/ठग या संस्था के झांसे में ना आए जो किसी भी प्रकार से पैसे लेकर कार्ड बनवाने का दावा करते हो क्योंकि ये लोग फर्जी कार्ड दे सकते हैं जोकि मान्य नहीं होंगे। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत सभी अस्पतालों को भी सूचित किया जाता है कि वे किसी व्यक्ति या संस्था के झांसे में ना आए जो किसी प्रकार से पैसे लेकर अस्पताल को इम्पैनल करवाने या सर्टिफिकेट दिलवाने के लिए कहे। यदि कोई अस्पताल, व्यक्ति या संस्था आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत किसी भी प्रकार कि गैर-कानूनी गतिविधिओं में दोषी मिलता है तो उनके विरुद्ध सरकारी हिदायतों अनुसार उचित कार्यवाही की जा सकती है।