नैनीताल – उत्तराखंड हाईकोर्ट ने कवारंटीन सेंटरों की बदहाली को लेकर सरकार को दिए निर्देश

0
39

रिपोर्ट – कान्ता पाल – उत्तराखंड हाईकोर्ट ने क्वारंटाइन सेंटरों की बदहाल व्यवस्थाओ को लेकर दायर अलग अलग जनहित याचिकाओ पर सुनवाई करते हुए सरकार को निर्देश दिए है कि नैनीताल व मंसूरी में पर्यटकों की बढ़त को देखते हुए दोनों शहरों के प्रवेश द्वार पर उनकी जांच की जाय । आज राज्य सरकार की तरफ से कोर्ट को बताया गया कि 2021 में होने वाले कुम्भ मेले की तैयारियां 31 दिसंबर तक पूरी कर ली जाएंगी। कोर्ट ने इस सम्बंध में राज्य सरकार से शपथपत्र पेश करने को कहा है और अगली सुनवाई 23 दिसंबर की तिथि नियत की है।
आपको बता दे अधिवक्ता दुष्यंत मैनाली, देहरादून निवासी सच्चिदानंद डबराल ने क्वारन्टीन सेंटरों व कोविड अस्पतालों की बदहाली और उत्तराखंड वापस लौट रहे प्रवासियों की मदद और उनके लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने को लेकर हाईकोर्ट में अलग अलग जनहित याचिकायें दायर की थी। पूर्व में बदहाल क्वारंटाइन सेंटरों के मामले में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव ने अपनी विस्तृत रिपोर्ट कोर्ट में पेश कर माना था कि उत्तराखंड के सभी क्वारंटाइन सेंटर बदहाल स्थिति में हैं और सरकार की ओर से वहां पर प्रवासियों के लिए कोई उचित व्यवस्था नहीं की गई है। जिसका संज्ञान लेकर कोर्ट अस्पतालों की नियमित मॉनिटरिंग के लिये जिलाधिकारियों की अध्यक्षता में जिलेवार निगरानी कमेटीया गठित करने के आदेश दिए थे और कमेटियों से शुझाव माँगे थे।