चंडीगढ़ – महिला IAS ने अतिरिक्त मुख्य सचिव पर लगाए यौन शोषण के सनसनीखेज आरोप

0
823

चंडीगढ़ –  पशुपालन एवं डेयरी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव (एसीएस) पर महिला आईएएस अधिकारी द्वारा यौन शोषण का सनसनीखेज आरोप लगाया गया है l इस मामले को लेकर राज्य महिला आयोग ने स्वतः संज्ञान लेते हुए दोनों अधिकारियों को नोटिस जारी किया है । बताया गया है कि महिला आईएएस ने ‘आधिकारिक फाइलों पर विपरीत टिप्पणी’ लिखने पर अपने वरिष्ठ अफसर पर उसका यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया है l  उनके वरिष्ठ अधिकारी ने आरोपों का खंडन करते हुए दावा किया कि महिला अफसर को सलाह दी गई थी कि अन्य अधिकारियों द्वारा जरूरी मंजूरी हासिल कर चुकी फाइलों में गलतियां नहीं निकालें l महिला अधिकारी ने घटना का विवरण देते हुए फेसबुक पर एक पोस्ट भी लिखी है l  उन्होंने लिखा है कि उनके बॉस ने उन्हें 22 मई को अपने दफ्तर में बुलाया और उन्हें ‘धमकाया.’ महिला अधिकारी ने लिखा है, ‘‘ उन्होंने मुझसे सवाल किया कि मैं फाइलों पर यह क्यों लिख रही हूं कि विभाग ने गलत किया है.’’ पुरूष अधिकारी ने कथित रूप से धमकाया कि अगर उन्होंने आधिकारिक फाइलों पर विपरीत टिप्पणियां लिखना बंद नहीं किया तो उनकी वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट  को खराब कर दिया जाएगा,  साथ ही महिला अधिकारी ने अपनी जान को खतरा बताया है। इस संबंध में उन्होंने राष्ट्रपति और केंद्र सरकार की ई-मेल पर शिकायत भेजी हैऔर डीजीपी से सुरक्षा की मांग भी की है।  

मुख्य सचिव ने अपने ऊपर लगे आरोपों का खंडन करते हुए  कहा कि वह किसी भी जांच के लिए तैयार हैं, अगर जरूरी हो तो उनका लाई डिटेक्टिव टैस्ट भी करवा लें। महिला अधिकारी किसी तनाव में आकर इस तरह के आरोप  लगा रही है। उन्होंने कहा कि जब महिला अधिकारी की उनके विभाग में पोस्टिंग हुई तो इन्होंने स्टाफ को कहकर उनकी मदद करवाई। यौन शोषण के सभी आरोप झूठे अौर मनगढ़ंत हैं।
सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि यह मामला चंडीगढ़ एरिया का है। महिला अधिकारी पुलिस में शिकायत दें। इसकी निष्पक्षता से जांच की जाएगी। जांच में जो भी दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी