पानीपत – विजिलेंस टीम ने पटवारी को रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ा 

0
55

रिपोर्ट-प्रवीण भारद्वाज/पानीपत -पानीपत विजिलेंस टीम ने कल रात समालखा तहसील के पटवारी सुरेश को रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ पकड़ लिया है । बताया जा रहा है कि पटवारी मकान के इंतकाल और जमाबंदी के नाम पर पहले ही 2 हजार रुपए वसूल चुका था। मौका रिपोर्ट बनाने के लिए 4500 रुपए और मांग रहा था। टीम ने पीड़ित को केमिकल लगे नोट दिए थे। नोट लेने के बाद टीम ने पटवारी के हाथ धुलवाए तो वह लाल हो गए थे। टीम पटवारी के सहायक को भी काबू कर पानीपत ले आई।

विजिलेंस डीएसपी आशीष कुमार ने बताया कि हथवाला निवासी सूरज ने शिकायत दी थी कि पटवारी सुरेश उसे जमीन का मौका निरीक्षण रिपोर्ट करने की एवज में 4500 रुपयों की मांग कर रहा है। उन्होंने इस मामले से डीसी धर्मेंद्र सिंह को अवगत करा दिया। डीसी ने पब्लिक हेल्थ के एक्सईएन रुपेश चंद को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त कर कार्रवाई के आदेश दिए।

टीम ने सूरज को रुपए देकर लघु सचिवालय स्थित कार्यालय में पटवारी के पास भेज दिया। जैसे ही पटवारी सुरेश ने रुपए हाथ में लिए। सूरज के पास खड़ी टीम ने उसे दबोच लिया। डीएसपी ने बताया कि मामले में सूरज के बयान पर पटवारी सुरेश के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत केस दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है।  हथवाला के रहने वाले सूरज त्यागी ने जौरासी रोड स्थित मयूर विहार इलाके में एक मकान लिया था। रजिस्ट्री में गली की दिशा गलत थी। जिसे ठीक करवाना जरूरी था। बैंक ने इस गलती के कारण ही लोन पास नहीं किया। मकान का इंतकाल और जमाबंदी की सर्टिफाइड काॅपी लेने के लिए सूरज ने सुरेश को दो हजार रुपए दिए थे। उसके बाद भी पटवारी ने मौका रिपोर्ट नहीं बनाई। वह 45 सौ रुपए और मांगने लगा। न देने पर वह सूरज को 15 दिनों से परेशान कर रहा था। न तो मौके पर आ रहा था और न ही रिपोर्ट तैयार कर दे रहा था।