करनाल -ड्राईव-थ्रू में 945 लोगों को लगाया गया कोरोना रोधी टीका : उपायुक्त 

0
27

करनाल जिला में स्वास्थ्य विभाग द्वारा आम आदमी को वैक्सीन लगाने के लिए शनिवार को एनडीआरआई चौंक और बलड़ी चौंक गीता द्वार के बीच ड्राइव-थ्रू वैक्सीनेशन यानि अपनी गाड़ी से नीचे उतरे बगैर गाड़ी में बैठे ही कोरोना रोधी वैक्सीन लगाने की सुविधा दी गई, इस ड्राइव में युवाओं ने बढ़चढ़कर भाग लिया, 485 वाहनों के माध्यम से 945 लोगों को यह कोरोना रोधी टीका लगाया गया। उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने इस ड्राईव का निरीक्षण किया और स्वास्थ्य विभाग की इस पहल के लिए उन्हें बधाई दी।
बता दें कि इस ड्राइव में केवल 31 व्यक्ति ऐसे थे जिनकी आयु 45 से ऊपर थी और अन्य 914 व्यक्ति 18 से 44 वर्ष की आयु के बीच के थे। वैक्सीन लगवाने वाले युवाओं में भारी जोश देखा गया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा वैक्सीन का समय सुबह 8 बजे से 11 बजे तक निर्धारित किया गया था।
उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने निरीक्षण के दौरान कहा कि ड्राइव-थ्रू वैक्सीनेशन मुहिम चलाने का उद्देश्य कम समय में अधिक से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन हो और इस दौरान संक्रमण का खतरा भी कम करना है।  उन्होंने मौके पर वैक्सीनेशन कर रहे चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ की हौसला अफजाई करते हुए कहा कि हमें अधिक से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन करते हुए उन्हें कोरोना महामारी से बचाना है। सुबह 8 बजे से लेकर 11 बजे तक चलने वाले वैक्सीनेशन के अंतिम समय में कतार में लगे सभी वाहनों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित करें। उपायुक्त ने यह भी बताया कि इस बार वैक्सीनेशन के लिए आने वाले लोगों का रजिस्ट्रेशन काफी हद तक पहले ही हो गया था जिस कारण वैक्सीनेशन में कोई परेशानी नहीं आ रही है। धार्मिक व सामाजिक संस्थाओं ने भी ड्राइव-थ्रू वैक्सीनेशन में अपना बढ़चढ़ कर सहयोग दिया है। इनमें सेवा भारती, निफा और यस वुई कैन संस्थाओं के सदस्य शामिल हैं।
सिविल सर्जन डा. योगेश शर्मा ने वैक्सीन लगवाने वालों को आश्वासन दिया कि अब जिले में वैक्सीन लगाने का कार्य निरंतर जारी रहेगा, सभी को वैक्सीन लगाई जाएगी। जिले में वैक्सीन की कोई कमी नहीं है। उन्होंने बताया कि टीकाकरण के बाद पोस्ट वैक्सीन वेटिंग एरिया भी बनाया गया जिसमें वैक्सीन लेने वाले व्यक्ति को आधे घंटे के लिए ऑब्जर्वेशन में रखा गया और उनकी देखभाल के लिए एम्बुलेंस व डाक्टरों की व्यवस्था की गई।
इस मौके पर कार्यक्रम की नोडल एवं उप सिविल सर्जन डा. नीलम वर्मा ने बताया कि ड्राईव-थ्रू वैक्सीन चलाने का उद्देश्य अधिक से अधिक लोगों को कम समय में कोरोना रोधी टीका देना है। उन्होंने बताया कि इस ड्राईव के दौरान रविवार को 945 लोगों का टीकाकरण किया गया और इस टीकाकरण अभियान में 485 वाहनों ने भाग लिया। इसके लिए जिला के दर्जनों केन्द्रों पर प्रतिदिन कोरोना रोधी टीका लगाया जा रहा है।