करनाल – एस.पी. द्वारा स्कूल बस चालकों को यातायात नियमों के प्रति किया गया जागरूक    

0
41

करनाल – करनाल पुलिस द्वारा  31वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया जा रहा है। जिसके तहत आज सड़क सुरक्षा सप्ताह के चौथे दिन पुलिस अधीक्षक सुरेन्द्र सिंह भौरिया द्वारा ट्रांसपोर्ट नगर सै0-04 करनाल में करनाल ब्लाक के सभी स्कूलों की करीब 300 बसों का निरीक्षण किया गया। जिनमें जी.पी.एस. सिस्टम, स्पीड कंट्रोलर, सी.सी.टी.वी. कैमरे, फर्स्ट ऐड बाक्स और अन्य सभी प्रकार की चैकिंग की गई। जिनमें पहले स्थान पर रही प्रताप पब्लिक स्कूल करनाल की बसें, दूसरा स्थान हासिल किया है बाबा रामदास विघापीठ और तीसरे स्थान पर टैगोर पब्लिक स्कूल करनाल की बसें रही। पुलिस कप्तान द्वारा उपरोक्त तीनों श्रेणियों में शामिल होने वाली बसों के स्टाफ को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।
एस.पी. साहब ने सभी बस चालकों और परिचालकों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करते हुए कहा कि पहले और दूसरे विश्वयुद्व में भी इतनी जाने नहीं गई थी, जितनी प्रतिवर्ष सड़क दूर्घटनाओं में जा रही हैं। पूरे विश्व में प्रतिवर्ष करीब 13 से 14 लाख व्यक्ति अपनी कीमती जानें हादसों में गवा रहे हैं, जिनमें से करीब 10 प्रतिशत जानें सिर्फ भारत के लोगों ने गवाई हैं। उन्होनें कहा कि आए दिन सड़कों पर होने वाले हादसों में जो जानें जा रही हैं , उसका खामियाजा न जाने कितने परिवारों को जीवन भर भुगतना पड़ता है।  भौरिया ने कहा कि पुलिस का उद्देश्य चालान करना नहीं है, अपितु इसके माध्यम से सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाकर वाहन चालकों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करना है।
पुलिस कप्तान ने कहा कि यहां पर स्कूल बस चालकों का कर्तव्य तो ओर भी अधिक बढ़ जाता है। उनके लिए तो ट्रैफिक नियमों की पालना करना अति आवश्यक है, क्योंकि उनके पास हमारे देश के भविष्य नन्हें बच्चों को घर से लेकर स्कूल और स्कूल से लेकर घर सुरक्षित पहुंचाने की जिम्मेवारी होती है। उन्होंनें कहा कि सड़क सुरक्षा सप्ताह से अलग भी जिला पुलिस की टीमें निरंतर षिक्षण संस्थानों में जाकर बच्चों को यातायात प्रति जागरूक करती हैं।