नैनीताल – दुल्हन के कोरोना पॉजिटिव होने पर पीपीई किट पहनकर पूरी हुई शादी की रस्में 

0
160

रिपोर्ट – कान्ता पाल /नैनीताल -कोरोनाकाल में शादियों का ट्रेंड बदल रहा है। कोविड के चलते कही ऑनलाइन शादी हो रही है तो ,कही पीपीई किट पहनकर शादी की रस्में पूरी की जा रही है। ऐसी ही एक अनोखी  शादी अल्मोड़ा में हुई है। जहाँ राजस्थान से बारात दुल्हन के घर पहुंचे ,तो  पता चला कि कुछ घंटे पहले ही दुल्हन की  रिपोर्ट  कोरोना पॉजिटिव निकली है। फिर क्या था , आनन फानन में इसकी सूचना प्रशासन को दी गई। जिसके बाद उन्हें शादी के लिए पीपीई किट मुहैया हुआ । दूल्हा, दुल्हन समेत पंडित ने पीपीई किट पहन कर शादी  पूरी करवाई। जिसके बाद दुल्हन को उसके ही मायके में क्वारंटाइन किया गया। और दूल्हा बिना दुल्हन के ही चला गया l
यह पूरा मामला अल्मोड़ा जिले के हवालबाग विकासखंड के लाट गांव का है। यहां की रहने वाली लड़की ने दो दिन पूर्व तबीयत खराब होने पर अपनी कोरोना जांच कराई। बारात घर पहुचने के कुछ घंटे पहले दुल्हन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ गयी। इसके बाद हड़कंप मच गया। लेकिन बारात राजस्थान से अल्मोड़ा पहुँच गई थी। ऐसे में लड़की पक्ष ने प्रशासन को इसकी जानकारी दी। जिसके बाद एसडीएम की ओर से कोविड नियमों को ध्यान में रखते हुए शादी की इजाजत दी गई। लिहाजा गांव में  पीपीई किट उपलब्ध कराई गई। इसके बाद मंडप सजाया गया और शादी की रस्में पूरी कराई गई। इसके बाद दुल्हन को क्वारंटाइन कर दिया गया।  इस दौरान पीपीई किट पहनकर पूरी शादी हुई।दुल्हा-दुल्हन, उनके माता-पिता, भाई और पंडित ने पीपीई किट पहनकर मंडप में रस्में पूरी कराई ,विधिवत मंत्रोच्चार के बीच दूल्हा-दुल्हन ने पीपीई किट पहनकर की एक दूसरे के गले में माला पहनाकर  सात फेरे लिए। बारात राजस्थान के बीकानेर से आई थी। एसडीएम सीमा विश्वकर्मा ने बताया कि गुरुवार को ग्रामीणों ने दुल्हन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव की सूचना दी। जिसके बाद विवाह समारोह में सभी लोगों को पीपीई किट उपलब्ध कराई गई। इसके बाद फेरे हुए। इसके बाद ही फेरे हुए। अब दुल्हन को क्वारंटाइन कर दिया गया है। फिलहाल दूल्हा शादी कर बिना दुल्हन लिए वापस चला गया है।  अब वह दुल्हन की रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उसे अपने साथ ले जाएगा।